टूरिस्ट गाइड की बारीकियां सीख देश-दुनिया से आने वाले पर्यटकों को उत्तराखंड दर्शन कराएंगे युवा

0

पहले चरण में टिहरी, पौड़ी और देहरादून जिले के युवाओं ने प्राप्त किया प्रशिक्षण

देहरादून। उत्तराखंड में पर्यटन के क्षेत्र में युवाओं के लिए रोजगार के अवसर सृजित करने के उद्देश्य से पर्यटन विभाग द्वारा गढ़वाल विश्वविद्यालय के सहयोग से डेस्टिनेशन टूरिस्ट गाइड कोर्स संचालित किया जा रहा है। प्रशिक्षण कार्यक्रम के पहले चरण में टिहरी, पौड़ी और देहरादून जिले के 30-30 युवाओं ने गाइड की बारीकियां सीखी अब वह देश-दुनिया से आने वाले पर्यटकों को उत्तराखंड दर्शन कराएंगे।

कोर्स के तहत प्रतिभागियों को सैद्धांतिक और प्रयोगात्मक प्रशिक्षण दिया गया। जिससे वह उत्तराखंड आने वाले पर्यटकों को यहां की सुंदर वादियों की सैर कराने के लिए तैयार हैं। इन प्रतिभागियों को गढ़वाल विवि की ओर से तैयार पाठ्यक्रम के आधार पर अनुभवि एवं विषय विशेषज्ञों द्वारा उत्तराखंड की भौगोलिक, राजनीतिक, ऐतिहासिक, सांस्कृतिक, लोक गीत, लोक वाद्य, रहन-सहन, खान-पान, बोली भाषा, मेले, औषधीय पादाप, गंगा, लोक पर्व, लोक परंपरा, मान्यता, लोक कहानियां और उनसे जुड़े तथ्य समेत यहां की महान विभूतियों के बारे में जानकारी दी गई।

प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रतिभागियों को भाषा शैली एवं हाव-भाव की बारीकियां भी सिखाई गई। इसके अलावा पर्यटकों को उत्तराखंड में रोमांच का अहसास दिलाने के लिए प्रतिभागियों को यहां की लोक कथाओं और लोक गीतों के बारे में भी बताया गया। साथ ही प्रशिक्षण कार्यक्रम में प्रतिभागियों को उत्तराखंड के वाद्य यंत्रों और उनसे जुड़े प्रसिद्ध लोक कलाकारों के बारे में भी जानकारी दी गई। जिससे वह स्वयं यहां की कला की विशेषताओं को जान सके।उत्तराखंड पर्यटन विकास परिषद (यूटीडीबी) की अपर निदेशक पूनम चंद ने बताया कि युवाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के उद्देश्य से विभाग की ओर से यह विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम गढ़वाल विवि के साथ मिलकर संचालित किया जा रहा है। पहले चरण में टिहरी, पौड़ी और देहरादून जिले के प्रतिभागियों को गाइड की बारीकियां सिखाई गई। तीनों जिलों के प्रतिभागियों ने कोर्स पूरा कर लिया है, अब वह पर्यटन विभाग के साथ मिलकर देश-दुनिया के पर्यटकों को उत्तराखंड की सैर करा रहे हैं। साथ ही उन्होंने बताया कि बागेश्वर जिले के कौसानी में यह कोर्स इनटेक द्वारा संचालित किया जा रहा है। भविष्य में भी विभाग की ओर से इस तरह के कोर्स संचालित किए जाएंगे। ताकि प्रदेश के अधिक से अधिक युवाओं के लिए रोजगार के अवसर सृजित किए जा सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *